कहीं चुनाव में मात न खानी पड़ जाए बसपा प्रत्याशी को! सांसद राजकुमार सैनी प्रचार सामग्री से हुए गायब

0
118

Faridabad(ncrcrimenews.com) देश की सबसे बड़ी पंचायत का चुनाव और नेता अपने अपने हिसाब से चुनाव प्रचार में जुटे हैं। अपनी ही पार्टी के नेता दूसरे उम्मीदवारों का अनौपचारिक समर्थन और उनकी मदद कर रहे हैं। फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र में भी यही हाल है। यहां से बसपा प्रत्याशी है मनधीर सिंह मान। हरियाणा में बहुजन समाज पार्टी का गठबंधन लोकतांत्रिक सुरक्षा पार्टी से है, जिसके सुप्रीमो राजकुमार सैनी है। लेकिन बसपा प्रत्याशी के सामने राजकुमार सैनी को लेकर बहुत सारे संकट दिखाई देते हैं, क्योंकि राजकुमार सैनी पिछले सालों में हुए जाट आरक्षण को लेकर जाटों को पसंद नहीं करते हैं। वे खुले मंच से जाट समाज के नेताओं को कोसते हैं।

मान के जाट होने का फायदा या नुकसान!

इत्तेफाक से फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र से बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार मनधीर सिंह मान भी जाट समाज से ही ताल्लुक रखते हैं। 26 अप्रैल को मान के कार्यालय पर आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में केवल एक ही जगह पर राजकुमार सैनी बोर्ड पर दिखाई दिए। अभी 3 दिन पहले ही फरीदाबाद में बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती की रैली मान के समर्थन में फरीदाबाद में आयोजित हुई। इस रैली में होर्डिंग और पोस्टर पर से राजकुमार सैनी का फोटो ही गायब था। क्योंकि मनधीर सिंह मान को जाट बेल्ट की वोट मिल रही है और उन्हें यह वोट चाहिए भी, क्योंकि फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र जाट बाहुल्य क्षेत्र है। लेकिन अगर राजकुमार सैनी को वह मंच पर बुलाते हैं और उनके फोटो को होर्डिंग पर सजाते हैं तो जाट समाज के लोग मान से नाराज हो सकते हैं। इसलिए पूरी रैली में राजकुमार सैनी का किसी भी होर्डिंग में फोटो तक दिखाई नहीं दिया। हैरत की बात तो यह है कि राजकुमार सैनी लोकतांत्रिक सुरक्षा पार्टी के सुप्रीमो हैैैै और बसपा का गठबंधन सैनी की पार्टी से है। यह बात तो सैनी के पार्टी के नेताओं को बिल्कुल भी नहीं भा रही है। लोकतांत्रिक सुरक्षा पार्टी के बड़े पदाधिकारी तो यह कहते हैं कि मान ने राजकुमार सैनी को फरीदाबाद रैली में ना बुलाने के लिए भी अपनी पार्टी के बड़े पदाधिकारियों से निवेदन किया था। क्योंकि मान को कहीं ना कहीं यह डर सता रहा है कि कहीं राजकुमार सैनी फरीदाबाद आए और उन्होंने जाटों के खिलाफ कुछ भी बोला तो उन्हें इसका भारी नुकसान होगा। सैनी की पार्टी के लोगों ने इसकी शिकायत भी राजकुमार सैनिकों की थी लेकिन राजकुमार सैनी ने यही कहा कि जिसके मन में जो है वह वो कर सकता है। नाम ना छापने की शर्त पर सैनी की पार्टी के जिला के प्रमुख नेता ने बताया कि वे बड़े ही असमंजस में है कि उन्हें करना क्या है, क्योंकि वे अपनी पार्टियों में सुप्रीमो के ही पीछे हैं। अगर पार्टी सुप्रीमो का ही मान सम्मान नहीं होगा तो उन्हें कौन पूछेगा। अब इस तरह की पीड़ा मान के लिए नुकसानदायक ना हो जाए।

गठबंधन पार्टी का पूरा नाम तक नहीं मालूम है मान को

मीडिया कर्मियों ने जब मान से बातचीत करते हुए पूछा कि आपकी पार्टी का किस पार्टी से गठबंधन है तो पहले तो उन्होंने कहा एलएसपी से और जब पत्रकारों ने पूछा एलएसपी की पूरा नाम क्या है तो उन्होंने कहा लोकतंत्र।

घाट घाट का पानी पी चुके हैं मान

मान फरीदाबाद के लिए कोई नया नाम नहीं है। कभी बहुजन समाज पार्टी तो कभी भारतीय जनता पार्टी वे अपने स्वार्थ के लिए पार्टियों को इस तरह बदलते हैं कि जैसे कोई अपनी तोलिया बदल रहा हो। भले ही मानने राजकुमार सैनी का फोटो अपनी प्रचार सामग्री से गायब कर दिया हो, लेकिन कहीं ना कहीं जाटों के मन में भी यह सवाल आएगा कि जो नेता जाटों के खिलाफ बोलता है उस पार्टी के गठबंधन वाली पार्टी से ही मनधीर सिंह मान ने टिकट क्यों लिया। यह तो वक्त ही बताएगा कि मान की स्थिति इस लोकसभा चुनाव में क्या रहने वाली है, लेकिन उनके समर्थक कहते हैं कि मनधीर सिंह मान तो फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र में पहले नंबर पर ही रहेंगे।

मान ने किया भाजपा और कांग्रेस प्रत्याशियों की जमानत जब्त का दावा

मीडिया कर्मियों ने जब मान से बातचीत की तो उन्होंने कहा कि उनका चुनाव बहुत अच्छे स्तर पर चल रहा है और इस बार दोनों प्रत्याशियों की जमानत जप्त हो जाएगी, क्योंकि लोग अवतार भड़ाना को भी बरत चुके हैं और कृष्ण पाल गुर्जर को भी

LEAVE A REPLY